More stories

  • Method of Segmentation
    in

    सेगमेंटेशन की पद्धति | Method for Segmentation

    मेमोरी मेनेजमेंट का एक महत्वपूर्ण नकारात्मक पक्ष, वास्तविक फिजिकल मेमोरी और मेमोरी संबंधी यूजर की धारणा को अलग करना है। पेजींग वह स्कीम है, जिसके द्वारा इन दोनों मेमोरी को पृथक किया जा सकता है। यूजर की धारणा फिजिकल मेमोरी पर मेप होती है। इस मेपिंग से लॉजिकल मेमोरी और फिजिकल मेमोरी का अंतर स्पष्ट […] More

  • Method for Paging
    in

    पेजिंग की पद्धति | Method for Paging

    यह एक्सटर्नल फ्रेगमेनटेशन समस्या का एक हल है। यह एक प्रोसेस की फिजीकल एड्रेस स्पेस को मानकांटोजियस होने की अनुमति देता है। इस प्रकार यह फिजिकल मेमोरी को उपलब्धता के अनुसार, इसे किसी प्रोसेस को प्रदान करने की अनुमति देता है। पेजींग विभिन्न आकार के मेमोरी होल्स को बेकिंग स्टोर में व्यवस्थित करने की समस्या […] More

  • Memory Management
    in

    मेमोरी मैनेजमेंट | Memory Management

    CPU शेड्यूलिंग की मदद से, हम CPU के उपयोग और उपयोगकर्ता के लिये कम्प्यूटर रिस्पांस की गति दोनों में वृद्धि कर सकते हैं। कार्यक्षमता संबंधी इस वृद्धि को समझने के लिये, हमें कई प्रोसेसेस को मेमोरी में रखना होगा तथा मेमोरी को शेयर करना होगा। ऑपरेटिंग सिस्टम स्टोरेज मैनेजर द्वारा जिन प्रमुख समस्याओं का समाधान […] More

  • Deadlock
    in

    ऑपरेटिंग सिस्टम: गतिरोध | Operating System: Deadlock

    एक मल्टिप्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम में, कई प्रोसेसे निर्धारित रिसोर्सेस के उपयोग के लिए एक साथ प्रतीक्षा क सकती हैं। प्रोसेस द्वारा रिसोर्सेस की माँग करते समय यदि उपलब्ध नहीं हैं तो वह प्रोसेस वेट की स्थिति में प्रवेश कर जाती है। यह भी हो सकता है कि वेटिंग प्रोसेस जिस स्टेट पर है, वह स्टेट […] More

  • Concurrency Processing
    in

    कॉनकरेंसी प्रोसेसिंग | Concurrency Processing

    इस भाग में हम ऐसे विशेष वातावरण को स्पष्ट करेंगे, जिसमें कम्प्यूटर द्वारा कई भिन्न प्रोसेसेस का एक साथ एक्जिक्यूशन उपलब्ध होता है। प्रोसेसेस की प्रकृति और प्रोसेसर के लिए उनमें प्रतिस्पर्धा का प्रबंधन सिस्टम शेड्यूलर द्वारा किया जाता है । कॉनकरेन्ट प्रोसेसिंग: यदि कई प्रोसेसेस एक ही समय में अस्तित्व में आती है, तो […] More

  • Process Management
    in

    प्रक्रिया प्रबंधन | Process Management

    वह प्रोग्राम जो एक्जिक्यूशन की प्रक्रिया में होता है, प्रोसेस कहलाता है। सामान्यतया, एक प्रोसेस में कई प्रोसेश समाहित रहती हैं, जिनमें अल्पकालिक डाटा (जैसे मेध पेरामिटर, रिटर्न एड्रेस और लोकल एड्रेस) तथा एक डाटा सेक्शन (भाग) होते हैं । इस डाटा सेक्शन में ग्लोबल वेरीयेबल संग्रहीत रहते हैं। एक प्रोग्राम का एक निष्क्रिय अस्तित्व […] More

  • Operating System Structure
    in

    ऑपरेटिंग सिस्टम की संरचना | Operating System Structure

    ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण मुख्य रूप से दो कारकों पर निर्भर करता है – (1) जिस कम्प्यूटर पर यह कार्य कर रहा है, उसके आर्किटेक्चरल कारक (फिचर्स) पर और (2) इसके एप्लिकेशन डोमेन के फिचर्स पर।  ऑर्किटेक्चरल फिचर्स पर निर्भरता का कारण सिस्टम की सभी फंक्शनल युनिट्स पर पूरे नियंत्रण की आवश्यकता है। इसलिए ऑपरेटिंग […] More

  • Multiprocessing
    in

    मल्टीप्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम | Multiprocessing Operating System

    इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में मल्टिपल प्रोसेसर होते हैं, जो अपने बस, क्लॉक, मेमोरी और इनपुट/ आउटपुट डिवाइसेस का उपयोग करते हैं। I/O प्रोसेसर के उपयोग से इनपुट, प्रोसेसिंग और आउटपुट ऑपरेशन का एक साथ एक्जिक्यूशन संभव कर कम्प्यूटर सिस्टम की कार्यक्षमता को बढ़ाया जा सकता है। प्रोग्राम के विभिन्न भागों पर CPU कुछ […] More

  • batch processing
    in

    ऑपरेटिंग सिस्टम: बैच प्रोसेसिंग | Operating System: Batch Processing

    किसी एनवायरनमेंट में कार्य करते समय कम्प्यूटर के संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने और प्रोग्रामर के आऊटपुट में सुधार लाने सम्बन्धी बंदिशें होती हैं। जब हम टेप्स के साथ कार्य कर रहे होते हैं तब बड़ी मात्रा में CPU का समय व्यर्थ जाता है अथवा जब यूजर इनपुट आऊटपुट डिवाइस के साथ कार्य […] More

  • Introduction of Operating System
    in

    ऑपरेटिंग सिस्टम का परिचय | Introduction to Operating System

    कम्प्यूटर हार्डवेयर हमें सूचनाओं का संग्रह करने और संबंधित अन्य क्रियाएँ करने के लिए साधन उपलब्ध करवाता है। हमारे उपयोगी कार्य करने के लिए यह सॉफ्टवेयर प्रोग्राम की मदद से चलाया जाता है। सॉफ्टवेयर प्रोग्राम से यह निर्धारित होता है कि कौन-सा कार्य किया जाना है। सॉफ्टवेयर का वर्गीकरण निम्न दो रूपों में किया जा […] More